Namami Gange Project & Clean Gange Mission Fact In Hindi

Namami Gange Project को प्रधानमंत्री नरेन्द्रमोदी ने आरम्भ किया था , और Namami Gange Project In Hindi को गंगा नदी के सफाई के लिए शुरू किया गया था | आइये जानते है Namami Gange Mission के तथ्य और उसके कवर क्षेत्र क्या है लेकिन इसके लिए आपको हमारी इस Post को पूरा पढ़ना होगा |

Namami Gange Project ( National Mission For Clean Ganga )

Namami Gange Project

हम सब जानते है कि गंगा एक पवित्र नदी है इसलिए Namami Gange Project का मुख्य उद्देश्य गंगा नदी को बचाना है | गंगा नदी का महत्व केवल सांस्कृतिक और आध्यात्मिक नहीं है बल्कि बहुत बड़ा है इसलिए भारत देश की 40% बस्ती गंगा पर आधार रखती है |

गंगा नदी की सफाई करना एक आर्थिक एजेंडा भी है | प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदीजी ने वर्ष २०१४ में कुछ ऐसा कहा था की अगर हमें गंगा नदी को साफ करने में सफलता मिल गई तो हमारे देश की 40% आबादी के लिए यह एक बहुत बड़ी मदद साबित होगी |

भारत सरकार ने Namami Gange Project नाम का एक सुग्रथित गंगा सरंक्षण मिशन का प्रारंभ किया क्योंकि गंगा नदी के प्रदुषण और गंगा नदी को पुन:जीर्वित किया जा सके |

इस योजना के जरिए गंगा नदी की सफाई की जाएगी ऐसा हमारे केंद्रीय मंत्रीमंडल ने कहा था | और गंगा नदी की सफाई के लिए बजेट का बढ़ावा करते हुए वर्ष 2019- 20 तक 20000 करोड़ रुपये खर्च करने की मंजूरी दी है |

इस योजना में 100% केंद्रीय हिस्सेदारी के साथ साथ केन्द्रीय योजना का नया रूप भी दिया जाएगा |

Clean Gange Mission ( Namami Gange Project ) Fact

प्रोजेक्ट की राशि 2037 करोड़ रुपये
प्रोजेक्ट में शामिल मंत्रालय केंद्रीय जल संसाधन मंत्रालय , गंगा नदी विकास और गंगा काया कल्प
प्रोजेक्ट का उद्देश्य गंगा नदी की सफाई
प्रोजेक्ट प्रारब्ध Date जुलाई 2014
प्रोजेक्ट की मुद्दत 18 वर्ष

प्रारंभ स्तर की गतिविधियों के तहत गंगा नदी की  ऊपरी सतह की सफाई से लेकर बहते हुए ठोस कचरे की समस्या को सुलझाने के लिए |

सबसे पहले ग्राम क्षेत्रों की सफाई की जाएगी और ग्रामीण क्षेत्रों की नालियों से आते मेले पदार्थ और इसमें आगे शौचालयों का निर्माण |

स्मशान गृह का आधुनिकीकरण , नवीनीकरण और निर्माण किया जाएगा क्योकि जो जले हुए शब् होते है उनको नदी में बहाने से रोका जा सके |

Namami Gange Project का एक और भी मकसद है जो नदी और लोगो के बीच में जो संबंध है उन्हें और भी अच्छा बनाने के लिए घाटों के निर्माण , मरम्मत और आधुनिकीकरण का हेतु भी निर्धारित किया गया है |

Namami Gange Project में कुल 231 परियोजनाओं है जिसमे गंगोत्री से शुरू होकर कानपुर , हरिद्वार , इलाहाबाद ,बनारस , गाजीपुर , बलिया ,बिहार में चार और बंगाल में छ जगहों पर पुराणे घाटों का जीर्णोद्धार , नए घाट , चेंजिंग रूम , शौचालय , बैठने की जगह , सीवेज ट्रीटमेंट , प्लान्ट , आक्सीडेशन प्लान्ट बायोरेमेडेशन प्रक्रिया पानी शोधने का काम किया जाएगा |

इसमें नालों को भी शामील किया जाएगा और तालाबों का गंगा से जोड़ने का क्या असर होगा वो भी देखा जाएगा |

Main Issues Of Namami Gange Project

Namami Gange Mission IN Hindi

आइए देखते है Namami Gange Project के मुख्य मुद्दे क्या है |

Namami Gange Project में 2500 किलोमीटर की जो दूरी है उसे कवर करने के साथ में उसमे शामिल 29 बड़े शहर , 48 कसबे और 23 छोटे शहर को कवर किया जाता है |

और इसका और एक भी कारन है की जो नदी का भारी प्रदुषण स्तर और औधोगिक एकमो का अस्पष्ट केमिकल और कचरा और आम जनता द्वारा जो कचरा डाला जाता है उसका भी एक मुद्दा है |

औधोगिक प्रदुषण की जो समस्या है उसके लिए अच्छे प्रवर्तन के जरिये से अनुपालन को अच्छा बनाने के प्रयत्न किये जाते है | और गंगा नदी के किनारे जो ज्यादा प्रदुषण फ़ैलाने वाले उद्योगों है उनको गंदे पानी की मात्रा कम करने के लिए और उसे पूर्ण तरीको से बंध करने का आदेश दिया गया है |

Cover Area Of Namami Gange Project

Namami Gange Project के लिए भारत देश के 5 राज्य इम्प्लीमेंट किये गए है |

  • उत्तराखंड
  • झारखंड
  • उत्तरप्रदेश
  • पश्चिम बंगाल
  • बिहार

यह सब राज्य गंगा नदी के रास्ते में आते है , और इसके जरिए सहायक नदियों के कारन वह जो नीचे दिए गए कुछ State हिस्सों को भी छूता है |

  • हिमाचल प्रदेश
  • राजस्थान
  • हरियाणा
  • छत्तीसगढ़
  • दिल्ही

इसके अलावा गंगा नदी में जो नगर निगम और उद्योगों से जो कचरा आता है उसे बहार निकालने का भी ध्यान दिया  जाएगा | और इस समस्या को Solve करने के लिए आने वाले 5 सालों में 2500 MLD अतिरिक्त ट्रीटमेंट कैपेसिटी की  रचना होगी |

और इसके आलावा इस कार्यक्रम को और भी अच्छा बनाने के लिए काफी सुधारे भी किये जाएगें |

प्रोजेक्ट के अमल के लिए प्रचलित समय में कैबिनेट हाइब्रिड वार्षिकी आधारित पब्लिक प्राइवेट पार्टनरशिप मॉडल पर विचार किया जाएगा | और अगर यह योजना मंजूर हो गई तो जो विशेष योजना वाले वाहन है वह सभी मुख्य शहरों में छूट का प्रबंधन करेगा |

हमने आपको इस पोस्ट में Namami Gange Project के बारें में सारी Information दी है | अगर आपको यह अच्छी लगे तो कृपया आगे जरूर Share कीजिए | और इसके अलावा अगर आपको और भी जानकारी चाहिए तो आप हमें Comment के जरिये हमारा संपर्क कर सकते है |

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *