“Mahila Kisan Sashaktikaran Pariyojana”:- आज की इस पोस्ट में हम आपको Mahila Kisan Sashaktikaran Pariyojana के बारे में सारी जानकारी हांसिल करेंगे | महिला किसान सशक्तिकरण योजना” (MKSP) दीनदयाल अंत्योदय योजना-NRLM (DAY-NRLM) के एक उप-घटक है | जो कृषि में महिलाओ की वर्तमान स्थिति में सुधार लाने और उसे सशक्त बनाने के लिए योग्य अवसरों को बढ़ाने का प्रयत्न करती है।

भारत देश के साथ साथ अधिकांश विकासशील देशों की अर्थव्यवस्था में गांव की महिलाए सबसे ज्यादा उत्पादक कार्यबल बनाती हैं। हमारे देश की 80% से ज्यादा गाँव की महिलाएँ अपनी रोजी रोटी के लिए कृषि गतिविधियों में लगी हुई हैं | लगभग 20 प्रतिशत खेत आजीविका विधवा, मरुस्थलीय या पुरुष उत्प्रवास के कारण महिला प्रधान हैं।

भारत में कृषि की मजबूत सहायता प्रणाली कृषि श्रमिकों और खेती करने वालों के रूप में महिलाओं को उनके अधिकारों से बाहर करती है। अधिकांश महिला प्रधान परिवार विस्तार सेवाओं, किसानों के समर्थन संस्थानों और उत्पादन परिसंपत्तियों जैसे बीज, जल, ऋण, सब्सिडी, आदि का उपयोग करने में सक्षम नहीं हैं। महिलाओं को पुरुषों की तुलना में कृषि श्रमिकों के रूप में, कम वेतन दिया जाता है। आज हम आपको इसके कुछ पहलुओं के बारे में बताऐंगे जैसे की,

  • MKSP LOGO
  • MKSP Website
  • MKSP Full Form
  • Mahila Kisan Sashaktikaran Pariyojana in Hindi
  • MKSP Guidelines
  • MKSP का उद्देश्य
  • MKSP Approach
  • MKSP Strategy
  • Vision For Personal Poor Family Covered Under MKSP
  • MKSP Implementation Strategy
  • Project  Implementation Agency (PIA)
  • Who is CRP? (CRP कौन है?)
  • MKSP Project
  • Procedure for Project Approval
  • Expected Outcomes of MKSP
  • MKSP PIB
  • MKSP PDF

अगर आपको MKSP के बारे में और भी ज्यादा जानकारी चाहिए तो इसके लिए आपको हमारी इस पोस्ट को लास्ट तक पढ़ना होगा |

MKSP LOGO

MKSP Website

Website पर जाने के लिए यहा CLICK करे।

MKSP Full Form

Mahila Kisan Sashaktikaran Pariyojana

महिला किसान सशक्तिकरण परियोजना

Mahila Kisan Sashaktikaran Pariyojana in Hindi

Mahila Kisan Sashaktikaran Pariyojana (MKSP) को कृषि से जुड़ी महिलाओ की वर्तमान स्थिति मे सुधार करने, उन्हे सशक्त बनाने के अवसरो को बढ़ाने के रूप मे सन 2011 मे ग्रामीण विकास मंत्रालय ध्वारा Deendayal Antyoday Yojana – NRLM के एक उप घटक के रूप मे शुरू किया गया था। इस योजना को कृषि क्षेत्र मे महिलाओ को लक्षित करते हुये एक स्वतंत्र आजीविका पहल के रूप मे शुरू किया गया था।

इस प्रोग्राम को पुरे देश में कार्यान्वित करनेवाले भागीदारों के रूप मे राज्य ग्रामीण आजीविका मिशन, सामुदायिक आधारित संगठनो और NGO की भागीदारी से DAY-NRLM ध्वारा कार्यान्वित किया जा रहा है। इस योजना का मुख्य हेतु महिलाओ को कृषि में अधिकार प्राप्त कराना है |

MKSP महिला को किसान के रूप में पहचान दिलाती है | कृषि परिस्थिति की स्थायी परिपटो के क्षेत्र मे महिलाओ की क्षमता का निर्माण करने का प्रयास करता है। इस योजना का मुख्य द्रष्टिकोण गरीब परिवार में सबसे गरीब तक पहुंच बनाने का है | MKSP यह गरीब परिवारों के साथ मिलकर कार्य करेगी और उन्हे कृषि, पशुधन आदि को अपनाने मे सहायता करेगी।

MKSP In Hindi

MKSP Guidelines

  • MKSP नीति का महत्वपूर्ण घटक भूमिहीन, छोटे और सीमांत परिवारों के लिए केन्द्रित हस्तक्षेप करना है |
  • महिला किसानो सहित सुदूढ़ सामुदायिक संस्थान सभी कार्यकलापों का आधार होने चाहिए।
  • गैर-कीटनाशक प्रबंधन (NPM), स्थायी पुनः उत्पादन और गैर-इमारती लकड़ी वन उत्पाद (NTFP) तथा अच्छा पशुधन उत्पादन और प्रबंधन परियोजनाओ जैसी प्रथाओ को प्रोत्साहित करना।
  • इस योजना के अंतर्गत परिवार और दोनों स्तर पर खाध और पोषण सुरक्षा को बढ़ावा दिया जाएगा |
  • समुदाय के उत्कृष्ट पेशेवरो के पूल मे से सामुदायिक संसाधन व्यक्तियो तथा पशु सखी का सृजन करना। इन “सामुदायिक हीरो” का उत्कृष्ट प्रथा को विस्तार करने के लिए प्रोत्साहित करना।

MKSP का उद्देश्य

  • MKSP का मुख्य उद्देश्य देश की ग्रामीण महिलाओ की खेती आधारित रोजी -रोटी बनाने और बनाये रखने के साथ साथ उनकी भागीदारी और उत्पादकता बढ़ाने के लिए व्यवस्थित निवेश करके कृषि में महिलाओं को सशक्त बनाना है।
  • कुशल स्थानीय संसाधन आधारित कृषि की स्थापना की जाती है जिसमे कृषि में महिलाए उत्पादन संसाधनों पर ज्यादा काबू कर सकती है |
  • और यह परियोजना उन लोगो को सरकार और और दूसरी एजेंसियों द्वारा प्रोवाइड किए गए इनपुट और सेवाओं तक अच्छी पहुंच प्राप्त करने में सक्षम बनाती है।
  • खेती संबंधित महिलाओ की प्रबंधकीय क्षमताओं को बढ़ाने के लिए जैव विवधता के अच्छा प्रबंधन जाएगा |
  • एक अभिसरण ढांचे के अंदर अन्य संस्थानों और योजनाओं के संसाधनों तक पहुंचने के लिए कृषि में महिलाओ की क्षमता में सुधार किया जाएगा |

MKSP Approach

  • इस योजना का मुख्य उद्देश्य प्रत्यक्ष और अप्रत्यक्ष रूप में उन्हें स्थायी कृषि उत्पादन प्राप्त करने में सक्षम बनाना है क्योंकि MKSP कृषि में महिलाओं की केंद्रीयता को मान्यता देता है |
  • MKSP एक सीखने की चक्र की शुरुआत करेगा जिसके माध्यम से महिलाओ को उचित तकनीकों और खेती प्रणालियों को सीखने और अपनाने के लिए सक्षम किया जाता है।
  • MKSP को मुख्य रूप से तैयार परियोजनाओं के द्वारा NRLM के उपघटक के माध्यम से लागू किया जाएगा |
  • NRLM के अंतर्गत, कौशल विकास और प्लेसमेंट के लिए परियोजना प्रस्तावों को आमंत्रित करने का प्रावधान किया गया है |
  • NRLM के अंतर्गत, विशेष रूप से कौशल विकास और प्लेसमेंट परियोजनाओं के निष्पादन के लिए प्राइवेट एरिया में अलग अलग कौशल विकास संघठनो के साथ अलग अलग मॉडलों का पता लग सकता है |
  • MKSP परियोजनाओं के लिए इसी तरह का दृष्टिकोण NRLM के अंतर्गत प्रस्तावित है |

MKSP Strategy

Mahila Kisan Sashaktikaran Pariyojana

MKSP के अंतर्गत परियोजना कार्यान्वयन एजेंसी (PIA) से यह उम्मीद की जाती है कि वह नीचे दी गई रणनीति का पालन करेगी :-

  • स्थानीय रूप से अपनाई गई, संसाधन संरक्षण, ज्ञानवर्धक, किसान के नेतृत्व वाली और पर्यावरण के अनुकूल प्रौद्योगिकियों का उपयोग।
  • महिला स्वयं सहायता समूहों, उनके संघों, गैर-सरकारी संगठनों और किसान समूहों, कृषि विद्यालयों, किसान क्षेत्र के स्कूलों और अन्य जैसे समुदायों और समुदाय आधारित संस्थाओं द्वारा समन्वित कार्रवाई।
  • कृषि में महिलाओ के बीच सामुदायिक कौशल को बढ़ाया जाएगा जिससे वह अपना स्थायी अधिकार पर अपनी आजीविका उद्देश्य तक पहुँच सके |
  • महिलाओं की क्षमता निर्माण और हैंडहोल्डिंग, औपचारिक और व्यावसायिक पाठ्यक्रमों के माध्यम से कौशल उन्नयन पर जोर दिया जाएगा।
  • MKSP गरीब और सबसे कमजोर महिलाओं जैसे SC / ST, अल्पसंख्यकों, भूमिहीन और आदिम जनजातीय समूहों को निशाना बनाने के लिए एक तरीके से रणनीति बनाएगा।
  • लक्ष्य समूह की पहचान करते समय, महिला प्रधान घरों (एकल महिला), संसाधन गरीब परिवारों और कृषि और संबद्ध गतिविधियों (पदोन्नति, उत्पादन, प्रसंस्करण और विपणन) में लगे महिला समूहों को प्राथमिकता दी जानी चाहिए।

Vision For Personal Poor Family Covered Under MKSP

  • एक परिवार के माध्यम से कृषि, पशुधन और NTFP मे से कम से कम दो आजीविका अपनाई जाएगी |
  • वन में रहने वाले लोगो खास करके इस मामले में गांव के आदिवासी महिलाओ के लिए NTFP एक व्यवहार्य आजीविका विकल्प है। इसमे उन NTFP कार्यकलापों पर ध्यान केन्द्रित किया जाएगा, जिनमे लैक, टसर, गुम कराया और औषधीय जड़ी-बूटिया शामिल है।
  • इस योजना के अंतर्गत सभी घरों में घरेलू खाध और पोषण सुरक्षा के लिए बैकयार्ड मे किचन गार्डन होना चाहिए।
  • बहु-आजीविका स्ट्रीम अपनाने से पूरे वर्ष गरीब परिवारों के लिए आमदनी होगी।
  •  उत्पादकता के बढ़ाने के साथ-साथ स्थायी पद्धतियाँ अपनाने से खेती की किंमत में कमी आएगी |
  • तीन साल के लिए सतत आधार पर कार्य करने से प्रति परिवार प्रति वर्ष 30 हजार से 50 हजार रुपए की इनकम होने की संभावना है।

Vision Of Facilities In The Village Under MKSP Activities

  • हर एक गांव में कम से कम एक गैर-कीटनाशी प्रबंधन (NPM) दुकान स्थापित की जाएगी।
  • सभी गांवो मे ग्राहक किराए पर लेने का केंद्र (CHC) या सामुदायिक टूल बैंक स्थापित किया जाएगा।
  • गाँव स्तर पर नियमित किसान खेत विधालय (FFS) आयोजित किए जाएगे।
  • अत्यधिक गरीब कार्यनीति के प्रतिमानों के अंतर्गत भूमि के कम्पैक्ट, एकत्रित ब्लॉक\पैच विकसित किए जाएगी।
  • गाँव स्तर पर बीज बैंक का निर्माण किया जाएगा ।
  • इस योजना के अंतर्गत पाँच गावो के हर एक समूह के लिए कम से कम पीको-प्रॉजेक्टर खरीदा जाएगा। जिसका प्रयोग महिला किसानो और और समुदाय के व्यवसायियो का क्षमता निर्माण करने के लिए किया जाएगा।
  • इस योजना के अंतगत हर एक गाँव और ब्लॉक के लिए CRP शुरू करने की नीति और परिपूर्णता योजना लागू की जाएगी।
  • पशुधन उत्पादन और प्रबंधन पद्धति कार्यक्रम के तहत घर पर विस्तार सेवाए उपस्थित करने के लिए गांवो मे पशु सखियो को प्रशिक्षित करके नियुक्त किया जाएगा।
  • गाँव स्तर पर किसान का रेकॉर्ड ” कृषि डाइरियो ” और ” किसान प्रोफ़ाइल ” के माध्यम से रखा जाएगा |
  • इस योजना के अंतर्गत परियोजनाओं का कार्यान्वयन की जाँच करने के लिए ग्राम संगठन (VO) की उप समितिया बनाई जाएगी।
  • प्रत्येक विशिष्ट क्षेत्र मे सामुदायिक उत्कृष्ट प्रथाओ का पता लगाकर उनकी दक्षता बढ़ाई जाएगी तथा इसे सभी गांवो मे विकसित किया जाएगा।

MKSP Implementation Strategy

इस प्रोग्राम को पूरे देश मे राज्य ग्रामीण आजीविका मिशन \ समुदाय आधारित संगठनो (CBO) NGO की भागीदारी से DAY-NRHM ध्वारा कार्यान्वित किया जा रहा है। इन एजंसीओ माध्यम से MKSP क्षेत्रो मे मात्रात्मक आजीविका मॉडलो को सहायता और पोषण देने की संभावना है।

इस प्रोसेस से यह उम्मीद लगायी जा सकती है की बेयरफुट समुदाय के व्यवसायिकों का सृजन किया जाएगा और वे अन्य क्षेत्रो मे उत्कृष्ट पद्धतियो को बढ़ाने मे मदद करेंगे।

Project  Implementation Agency (PIA)

PIA जो प्रमुख हितधारको मे से एक है, MKSP के कार्यान्वयन मे परियोजना प्रस्ताव के चरण से लेकर इसके अंतिम निष्पादन तक अभिन्न भूमिका निभाता है।

PIA कौन बन सकता है?

  • महिला केन्द्रित NGO
  • CSO
  • CBO
  • SHG परिसंघ
  • कृषि कार्यकलापों मे सक्रिय महिला संगठन
  • पंचायती राज संस्थान
  • महिला विकास कॉर्पोरेशन
  • या MKSP के अंतर्गत अन्य कोई संगठन

MKSP के सभी दिशा-निर्देशों का पालन यह सभी संस्थाओ को करना होगा | इन सभी ध्वारा निम्नलिखित स्थियों को भी पूरा करना होगा।

  • सामुदायिक भागीदारी के माध्यम से गरीबो हेतु दीर्घकालीन कृषि आधारित रोजीरोटी कार्यकलापों के कार्यान्वयन और उन ग्रामीण क्षेत्रो, जहां वे कार्य करने का प्रस्ताव करना चाहते है, मे कम से कम 3 वर्ष का संबंधित अनुभव हो।
  • इस योजना के अंतर्गत 3 साल के लिए हर एक वर्ष 25 लाख रुपये का न्यूनतम कारोबार होगा |
  • इस योजना के अंतर्गत 500 किसानो के साथ कम से कम कार्य किया होना चाहिए |
  • समुदाय आधारित संगठनो और उनके परिसंध के साथ कार्य करने का पर्याप्त अनुभव हो।
  • इसके साथ साथ प्रस्तावित परियोजना के संबंध मे पर्याप्त अवसंरचना और मानव संसाधन हो।
  • यह पंजीकृत, गैर-राजनीतिक और धर्म-निरपेक्ष प्रकृति का होना चाहिए।
  • और यह किसी सरकारी विभाग की काली लिस्ट में डाला न गया हो |
  • वित्तीय और सामग्री रखरखाव, लाभ साझा करने और कानून का अनुपालन करने मे पारदर्शी होना चाहिए।

Who is CRP? (CRP कौन है?)

सामुदायिक संसाधन व्यक्ति या CRP उनके अपने समुदायो से चुने गए प्रेरित महिला किसान होते है, जो कुछ एक उत्कृष्ट कृषि प्रथा को अपनाते है। वे विभिन्न क्षेत्रो मे उत्कृष्ट पद्धतियो को बढ़ाने के लिए कार्यनीति को समर्थन देने का अभिन्न हिस्सा होते है।

CRP के कार्य निम्नलिखित रूप से है।

  • महिला किसानो को जुटाना
  • दीर्घकालीन कृषि प्रौधोगिकियो के प्रदर्शन की सुविधा प्रोवाइड करना |
  • कार्यकलापों के महत्वपूर्ण चरणों के दौरान महिला किसान को सतत मदद प्राप्त कराना |
  • गाँव स्तर पर आउटरिच और स्थायित्व सुनिश्चित करने के लिए प्रमुख तंत्र है।

देश के अलग अलग राज्यों में 14000 से भी ज्यादा CRP को प्रशिक्षित किया गया है और उत्कृष्ट पद्धतियो के संवर्धन के लिए तैनात किया गया है।

MKSP Project

MKSP Project

Procedure for Project Approval

Mahila Kisan Sashaktikaran Pariyojana (MKSP) की स्वीकृति के लिए आंवटन के आधारित द्रष्टिकोण से अलग अलग दृष्टिकोण अपनाने का प्रयास करती है | MKSP के तहत परियोजनाओं के मांग के आधार पर प्रारंभ किया जाता है |

Role of NRLM

परियोजना मूल्यांकन मे राज्य ग्रामीण रोजीरोटी मिशनो की भूमिका के बारे मे जानकारी

  • PIA की निगरानी करने की जिम्मेदारी NRLM की होती है |
  • MKSP के तहत राज्य मिशनों का प्रस्ताव विचारार्थ प्रस्तुत किये जाते है | इनका संबंधित राज्य की विशिष्ट जरूरतों के आधार पर मूल्यांकन और अग्रेषण किया जाता है |
  • उसके बाद राज्यो ध्वारा सिफ़ारिश की गई परियोजनाओ को ग्रामीण विकास मंत्रालय को निर्धारित साँचे (Template) मे भेजा जाता है।

Role of CRP

CRP स्थायी, जलवायु अनुकूल परिस्थिति की कृषि और NTFP पद्धतियो को प्रोत्साहित करने मे महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है।

  • CRP के रूप में हर एक गांव के लिए सामजिक पूंजी की रचना की जाएगी |
  • साथ ही दीर्घकालीन कृषि, NTFP और पशुधन के लिए अत्यधिक कार्यनीति के अंतर्गत प्रोत्साहित सभी प्रतिमानों का पालन किया जाएगा।
  • हर एक परिवार को कम से कम दो प्राथमिक क्षेत्र की रोजीरोटी मे मदद प्रोवाइड की जाएगी।
  • सभी शामिल परिवारों की खाध और पोषण सुरक्षा मे सुधार करना।
  • कार्यकलापों के अंतर्गत शामिल सभी परिवारों की पारिवारिक आय मे वृद्धि करना।

Expected Outcomes of MKSP

  • खेती में महिलाओ की इनकम में स्थायी आधार पर शुद्ध वृद्धि।
  • कृषि और उनके परिवारों में महिलाओं की खाद्य और पोषण सुरक्षा में सुधार।
  • महिलाओं द्वारा खेती, उपज की तीव्रता और खाद्य उत्पादन के अंतर्गत क्षेत्र में वृद्धि।
  • कृषि में महिलाओं द्वारा कौशल और प्रदर्शन के स्तर में वृद्धि।
  • कृषि में महिलाओं की उत्पादक भूमि, आदानों, ऋण, प्रौद्योगिकी और सूचना तक पहुंच बढ़ाना।
  • लिंग अनुकूल उपकरण / प्रौद्योगिकी के उपयोग के द्वारा से कृषि के क्षेत्र में महिलाओं के लिए कड़ी मेहनत में कमी।
  • अपने उत्पादों के अच्छे विपणन के लिए बाजार और बाजार की जानकारी तक पहुंच बढ़ाई।
  • कृषि आधारित आजीविका को बनाए रखने के लिए मृदा स्वास्थ्य और प्रजनन क्षमता में वृद्धि।
  • एक रुचि समूह के रूप में कृषि में महिलाओं की दृश्यता में वृद्धि – महिला संस्थानों की बढ़ती संख्या और उनकी उद्यमशीलता में वृद्धि के संदर्भ में।

MKSP PIB

अगर आपको MKSP PIB को पढ़ना है तो इसके लिए आपको नीचे एक LINK दी गई है उस पर Click करना होगा |

MKSP PIB 02-08-2016

MKSP PIB 09-07-2019

MKSP PDF

इस योजना की अंतगर्त आपको ज्यादा जानकारी चाहिए तो इसके लिए आपको यहाँ पर एक MKSP PDF दी गई है |

पढ़ने के लिए यहा CLICK करे।

DOWNLOAD करने के लिए यहा CLICK करे।

Source:- http://mksp.gov.in/

दोस्तों हमने आपको यहाँ पर Mahila Kisan Sashaktikaran Pariyojana (MKSP) के अंतर्गत सारी जानकारी देने का प्रयत्न किया है | अगर आपको यह अच्छी लगे तो अपने दोस्तों के साथ जरूर शेयर कीजिए और अगर आपको इस योजना के बारे में और भी ज्यादा जानकरी चाहिए तो इसके लिए आप हमें Comment करके बता सकते है |

कृपया ध्यान रखे :- यह आर्टिकल सिर्फ और सिर्फ जानकारी प्रोवाइड करने हेतु है |

Pradhan Mantri Scheme’s List

अगर आपको Pradhan Mantri Yojana’s के बारे में जानना है तो इसके लिए आपको योजना के नाम पर Click करना होगा |